कुछ बदले ऐसे भी – हेलमेट न पहनने पर काटा चालान; पुलिस स्टेशन की पॉवर सप्लाई पर गिरी गाज

फ़िरोजाबाद में एक इलेक्ट्रिशियन ने लिया अनोखा बदला, पुलिस स्टेशन में 4 घंटे अँधेरा किया

उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद में श्रीनिवास नाम का एक इलेक्ट्रिशियन बिना हेलमेट के ड्राइविंग करते पाया गया. सब इंस्पेक्टर; रमेश चंद्र ने उसे Rs.500 का चालान थमा दिया. आपको लग रहा होगा इसमें नया क्या है?

घटना के समय श्रीनिवास ऑन ड्यूटी थे और किसी विशेष जगह किसी फाल्ट को ठीक करने जा रहे थे. उन्होंने पुलिस से अपने जूनियर इंजिनियर से बात करने को कहा. श्रीनिवास ने अपनी मासिक आय महज Rs. 6,000 होने का हवाला देते हुए 500 रूपये न दे पाने की बात कही.

अंततः उसे ऑनलाइन फाइन देना ही पड़ा. इस बात से गुस्साये उस बंदे ने Linepar पुलिस स्टेशन के पेंडिंग पॉवर ड्यूज के रिकॉर्ड खंगाले. ये बात सामने आई कि पुलिस स्टेशन ने जनवरी 2016 से बिल का भुगतान नहीं किया है और उनका बिल बढकर Rs 6,62,463 हो गया है. बस फिर क्या; श्रीनिवास ने बेहिचक Linepar पुलिस स्टेशन की पॉवर सप्लाई काट दी.

पुलिस स्टेशन में इलेक्ट्रिसिटी सप्लाई चालू होने में 4 घंटे लगे

4 घंटे तक पुलिस स्टेशन में इलेक्ट्रिसिटी नदारद रही. मामला तब सुलझा जब सीनियर पुलिस ने विद्युत् विभाग के अधिकारियों से चर्चा की.

जब श्रीनिवास से विवरण माँगा गया तो उसने लंबित बिल का हवाला दिया. जिस तरह पुलिस वालों ने उसे ट्रैफिक रूल्स समझाए उसी भाषा में वो पॉवर बिल्स समय पर अदा करने की नसीहतें देने; नियम समझाने लगा.

जनवरी 2016 से ही बिल पे न किये जाने पर जब जाँच शुरू हुई तो फिरोजाबाद के Sub divisional officer, DVVNL; रणवीरसिंह ने इसे सही बताया व कहा कि अनेकों रिमाइंडर भेजने के बाद भी कोई प्रतिक्रिया नहीं आई. इधर पुलिस का दावा है कि DVVNL को सभी पुलिस स्टेशन व ऑफिस के बिल के भुगतान रूप में Rs.1.15 crores दिये जा चुके हैं. बैलेंस का निस्तारण भी जल्द कर दिया जायेगा.

पुलिस अधिकारियों की दलील है कि 10 kW का अतिरिक्त लोड भी पुलिस स्टेशन पर फिक्स किया गया है जबकि पॉवर की खपत काफी कम है. लेकिन इलेक्ट्रिक डिपार्टमेंट ने प्रतिदावा किया कि peak load 14 kW तक पहुँच चुका है क्योंकि पुलिस स्टेशन में कई सारे equipment का इस्तेमाल हो रहा है.

मामला अभी सुलझा नहीं है. पुलिस का कहना है कि वे श्रीनिवास के विरुद्द electricity department authorities को मामला दर्ज करवायेंगे.