हरियाणा व ओडिशा में Traffic fine collection का बना रिकॉर्ड – मात्र चार दिन में जमा हुए Rs 1.41 करोड़

सरकार का लक्ष्य कलेक्शन से ज्यादा दुर्घटनाओं पर कसना है लगाम

File Photo. Image for reference.

नया Motor Vehicles (Amendment) Bill, 2019 तो उन लोगों पर कहर बनकर टूटा है जिन्हें ट्रैफिक रूल्स तोड़ने की आदत-सी पड़ गई है. फिलहाल रोजाना बढ़ी हुई पेनल्टी की खबरें जोरों-शोरों से सोशल व प्रिंट मीडिया में चल रही है.

कुछ पेनल्टी तो इतनी ज्यादा है कि इतनी तो उस अभियुक्त की मासिक कमाई भी नहीं है. नये रुल के लागू होने के चार ही दिनों के भीतर हरियाणा व ओडिशा से Rs 1.41 crore की रकम पेनल्टी के रूप में इकठ्ठी हो गई है.

Odisha Motor Vehicles Department द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार ट्रैफिक नियम तोड़ने के 4,080 challans इश्यू होने पर Rs 88.90 lakh जुर्माने के रूप में जमा हो चुके हैं. नये नियमों के अनुसार 46 व्हीकल्स जब्त कर लिए गये हैं. हरियाणा में 343 challans के बाद Rs 52.32 lakh जमा हुए हैं. दिल्ली में तो पहले ही दिन 3,900 challans इश्यू हो गये.

Fines of Rs 37,500 and Rs 59,000 in separate cases in Haryana.

इन नये रूल्स की वजह से लोगों की राय भी बंट गई है. कुछ इसका समर्थन कर रहे हैं तो कुछ लोग विरोध. कुछ लोगों ने विशेष नियम तोड़ने पर जेल भेजने के प्रोविजन्स की जमकर आलोचना की है. हालाँकि नये रूल्स का उद्देश्य तो सही है क्योंकि विश्व में भारत की ट्रैफिक कंडीशन सबसे ज्यादा शोचनीय है.

भारत में प्रतिवर्ष 5 lakh रोड एक्सीडेंट्स होते हैं जो विश्व में सबसे ज्यादा है. इन दुर्घटनाओं में प्रतिवर्ष 3 lakh लोग गंभीर रूप से घायल होते हैं और 1.5 lakh लोग मरते है.

अयोग्य होने के बावजूद ड्राइव करने पर और आपातकालीन वाहन को रास्ता न देने पर Rs 10,000 की पेनल्टी का प्रावधान है. डेंजरस ड्राइविंग के लिए  (Rs 5,000), शराब पीकर गाड़ी चलाने पर (Rs 10,000), ओवर स्पीडिंग पर (Rs 1,000-2,000), इंश्योरेंस के बिना ड्राइव करने पर (Rs 2,000), हेलमेट बिना ड्राइव करने पर (Rs 1,000 व तीन महीने तक लाइसेंस सस्पेंशन) अथॉरिटी की डिसऑबीडियेन्स पर (Rs 5,000), वाहन ओवरलोड करने पर (Rs 20,000), violation of license conditions by cab aggregators (Rs 1 lakh), लाइसेंस के बिना ड्राइव करने पर (Rs 5,000), वाहन के अनाधिकृत ड्राइव करने पर (Rs 5,000), सामान्य ट्रैफिक वायोलेशन पर (Rs 500) जुर्माना निर्धारित है.

गवर्नमेंट को विश्वास है कि भारी जुर्माने व जेल जाने के डर की वजह से लोग जागरूक बनेंगे और एक्सीडेंट्स में मरने वालों की संख्या में कमी आयेगी. दुर्घटना में मृत्यु कारित होने पर Rs 5 lakh व गंभीर रूप से घायल होने पर Rs 2.5 lakh के जुर्माने का प्रावधान है.