Jawa के बढ़ते प्रभुत्व से डगमगाई Royal Enfield की सफलता की नैया

आगामी 3-5 सालों में Royal Enfield 12 नई बाइक्स के लाँन्च के लिए प्रतिबद्ध.

सफलता जब सिर चढकर बोलती है तो वो अक्सर अर्श से फर्श पर भी ले आती है. अब Royal Enfield को ही लीजिये. कहाँ इन्हें Indian retro-classic specialist का ख़िताब प्राप्त था और अब दिन ब दिन डोमेस्टिक मार्केट में डिमांड में कमी आई है.

अब अगर आप इसका कारण पूछे तो वे बहुतेरे हो सकते हैं. जैसे कीमत में बढ़ोतरी, medium displacement segment में Jawa जैसा प्रतिद्वंदी आ जाना, features में कमी, लेबर्स की स्ट्राइक, low product quality और high service costs.

RE के बॉस सिद्धार्थ लाल वो व्यक्तित्व हैं जो पहले भी इस ब्रांड को सफलता का स्वाद चखा चुके हैं. इन हर्डल्स को भी वे क्षणिक ही मान रहे है. वे कंपनी के long-term outlook के प्रति विश्वस्त हैं.

Premium twin-cylinder Interceptor 650 और Continental GT 650 तो बस आगाज है; अभी आगे तो तीन से पाँच साल के अंदर 12 नई बाइक्स लाने की योजना पर काम हो रहा है.

Next generation Classic family के BS-VI avatar में J Platform की अहम भूमिका रहने वाली है. इनका आर्किटेक्चर RE के 300-400 cc range बाइक्स पर आधारित होगा. नये प्रोडक्ट्स के बारे में अभी पूरी जानकारी तो नहीं मिल पाई है लेकिन कंपनी के CEO ने ये स्पष्ट संकेत दिये हैं कि 150-200 cc जैसे छोटे सेगमेंट्स से बात नहीं बनेगी.

Next generation बाइक्स में आपको मिलेगी ज्यादा बेहतर क्वालिटी, कम वजन और ज्यादा विश्वसनीयता. RE ने इस काम के लिए एक्सपर्ट्स को हायर किया है.

Jawa, Triumph और Harley मजबूती से अपनी जड़ें फैला रहे हैं इसलिए Royal Enfield फूंक फूंककर कदम रख रहे है.