आख़िरकार Mahindra ने मैदान मार ही लिया – Fiat Chrysler का केस निकला बेदम

US के मार्केट में Roxor की बिक्री जारी रहेगी.

Mahindra and Fiat Chrysler Automobiles (FCA) के बीच का घटनाक्रम तेजी से घूमते हुए आख़िरकार अपने मुकाम पर पहुँच ही गया. आपको याद ही होगा कि FCA ने Mahindra पर इंटेलेक्चुअल प्रॉपर्टी राइट्स के violation का आरोप लगाते हुए उसे कटघरे में ला खड़ा किया था. Mahindra Roxor को उन्होंने अपनी Jeep design की identical copy बताया था.

US Trade Commission के द्वारा नियुक्त investigative staff ने FCA की इस शिकायत की जांच करने से ही इंकार कर दिया. क्योंकि Mahindra Roxor में लगा grille design अप्रूव्ड था.

पर FCA अपनी इस दलील पर कायम था कि US के मार्केट में बेची जा रही Roxor off roader उनकी Jeep Wrangler की हूबहू है. ये स्पष्ट रूप से copyright violation का मामला है इसलिए उन्होंने कोर्ट से Mahindra Roxor को बैन करने की गुहार लगाई. Mahindra ने अपना पक्ष रखते हुए वो एग्रीमेंट पेश किया जिसके अनुसार FCA ने उन्हें दूसरी grille design वाला व्हीकल बेचने की अनुमति दी थी.

पर FCA को सिर्फ डिजाईन से ही समस्या नहीं थी, दूसरा पहलू ये था कि Mahindra Roxor की कीमत इतनी किफायती है कि ये Jeep की सेल्स पर नकारात्मक प्रभाव डालेगा. कीमत के मामले में Mahindra काफी फायदे में है क्योंकि इसके products भारत में ही निर्मित होते हैं और US markets में via CKD kits इम्पोर्ट किये जाते हैं और Detroit में assemble होते हैं.

इन तमाम तर्कों के बाद भी फैसला Mahindra के पक्ष में रहा और ये फैसला सुनाया गया कि Mumbai based Mahindra; Roxor off roader को भारत से US markets में इम्पोर्ट कर सकती है. अब तक Mahindra Roxor की 4,000 यूनिट्स US में बेचीं जा चुकी है. इस साल का कम्पनी का टारगेट 4,500-5,000 यूनिट्स की बिक्री का है. Roxor US में मार्च 2018 में एक off-road के रूप में लाँन्च हुई थी. ये street legal SUV नहीं है. इसकी कीमत $15,000 (Rs.10,49,475) है.

इसे 2.5 liter, 4 cylinder डीजल इंजन से पॉवर किया गया है. वैसे तो इसकी डिजाईन Mahindra Thar DI से प्रेरित है पर US market की डिमांड को देखते हुए इसके फीचर्स मॉडिफाई किये गये हैं. इसलिए इसमें डोर्स, top roof और windscreen नहीं है.