टू वीलर सेगमेंट में बजा Mahindra का बैंड; Mojo की सेल्स रुकी साथ ही UM Motorcycles भी शून्य पर अटकी

अगर वक्त के साथ नहीं चलोगे तो पीछे रह जाओगे

एक ओर जहाँ सभी OEMs नये सेफ्टी नॉर्म्स के मद्देनजर अपने मॉडल्स को अपडेट करने में जी-जान से लगी है वहीँ Mahindra Two Wheelers व  UM Motorcycles इस रेस में काफी पिछड़ गये हैं. अब इस बात से तो कोई अनजान नहीं है कि 125 cc से ज्यादा engine displacement वाले टूवीलर्स का single-channel ABS से लैस होना और छोटे इंजन वाले मॉडल्स का CBS (Combi Braking System) से लैस होना अनिवार्य हो गया है.

अगर SIAM’s डेल्स डेटा की मानें तो अप्रैल 2019 में Mahindra Two Wheelers Ltd. व UM Motorcycles की एक भी यूनिट नहीं बिकी है. अब इन हालातों में इसका एक ही कारण नजर आता है कि उन्होंने अपने प्रोडक्ट्स को सेफ्टी फीचर्स से अपडेट नहीं किया है.

एक ओर Mahindra Two Wheelers बाजार में अपने पैर जमाने का ख्वाब पाले हुए है और इसी मुहिम की देन है – Centuro व Pantero. इसके बाद Gusto 110 व 125 से उम्मीदें बांधी और फिर compact displacement sportsbike (Mojo) पर अपना भाग्य आजमाया पर किस्मत को ये कुछ भी रास नहीं आया.

Mahindra and Jawa sales

Mojo व Gusto को सेफ्टी फीचर्स से लैस करने में देरी ही कंपनी की असफलता का सबब बनी है. अब इस विलंब में कुछ संदेह के बादल गहराते नजर आ रहे हैं. कहीं Mahindra का टॉप मैनेजमेंट इस सेगमेंट से विदा लेने के मूड में तो नहीं है. हालाँकि अभी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है. हो सकता है उन्हें कोई आशा की किरण नजर आ रही हो.

Jawa बाइक्स के सिवाय Mahindra का कोई भी टूवीलर नहीं बिक रहा है. हालाँकि Jawa का दावा है कि वे भारतभर में बाइक्स डिलीवर कर रहे हैं पर पर कई कस्टमर्स द्वारा बुकिंग कैंसिल करना कंपनी की सुस्ती बयाँ कर रहा है. अप्रैल में कितनी Jawa डिलीवर हुई इस बाबत कंपनी द्वारा कोई सूचना नहीं दी जा रही है.

अगर आप UM Motorcycles के बारे में नहीं जानते हैं तो हम बताते हैं कि ये एक young American two wheeler brand है जिनकी Lohia Auto के साथ पार्टनरशिप है. अभी इनकी शुरुआत काफी सुस्त है. कंपनी के पास mass-market products कम होने से इनसे कोई बड़े धमाके की उम्मीद भी नहीं है.

UM sales

इस तरह से सेफ्टी रेगुलेशन के प्रति उदासीन रहने से न सिर्फ कंपनी को नुकसान हो रहा है बल्कि डीलर-पार्टनर्स को भी दुविधा हो रही है. BS-VI deadline काफी निकट आने से MTWL व UM की चुनौतियां बढ़ गई हैं. उम्मीद है दोनों ही ब्रांड्स अब कुछ बेहतर एक्शन लेंगे.