New SsangYong Tivoli के इंटीरियर्स हुए बेनकाब; 2020 Korando जैसे मिजाज है बेमिसाल

Mahindra R&D द्वारा डवलप किया गया ये शाहकार नहीं होगा भारत में लाँन्च

अभी कुछ दिनों पहले left-hand-drive SsangYong Tivoli facelift को भारत में टेस्टिंग के दौरान देखा गया था. उसकी चर्चा तो थमी ही नहीं और एक right-hand-drive mule ने तहलका मचा रखा है. हालाँकि ये आवरण में थी. तस्वीर में आप देख सकते हैं कि किस तरह इसने फ्रंट और रियर fascias पर काला क्लोक पहन रखा है लेकिन इसके इंटीरियर पब्लिक की निगाहों में आने से बच नहीं पाये.

अगर करेंट Tivoli व XUV300 से इसके इंटीरियर की तुलना करें तो ये काफी नफीस हैं. डैशबोर्ड की तस्वीर बता रही है कि अब सेंटर AC vents टचस्क्रीन यूनिट के ऊपर स्थित हैं. इससे ये संभावना प्रबल हो जाती है कि इसका टचस्क्रीन इन्फोटेंमेन्ट सिस्टम काफी बड़ा होगा.

डैशबोर्ड चेंज होने का मतलब ही ये है कि डिजाईन ज्यादा जानदार, कम बटन्स व AC controls के नीचे फोन के लिये स्टोरेज स्पेस होगा. Instrument console पहले जैसा ही है. इंटीरियर में black theme काफी फब रही है. इन शानदार फोटोज के लिये Rajeev Pirayattu व Arshad को शुक्रिया कहना तो लाजिमी ही है.

यही नही SsangYong Tivoli facelift में आपको ग्रिल, हेडलैंप व बंपर भी बेहद अलहदा मिलेंगे. खूबसूरती में ये हूबहू Korando जैसी ही है. हालाँकि प्रोटोटाइप में pre-production makeshift dashboard ही रहता है इसलिए फाइनल डिजाईन के बारे में बात करना जल्दबाजी होगी पर उम्मीद है कि इसके काफी तत्व 2020 Korando जैसे ही हैं.

Mahindra व इनके कोरियाई सब्सीडियर, SsangYong साथ मिलकर प्लेटफार्म व पॉवरट्रेन लाइनअप डवलप करने की दिशा में काम कर रहे हैं. ये भी ख़ुशी की बात है कि प्रोटोटाइप अपडेटेड इंजन्स को BS6 emission norms के अनुरूप बनाने की दिशा में टेस्ट कर रहे हैं.

Tivoli के ही शोर्ट वर्जन Mahindra XUV300 में भी नया turbocharged 1.2-liter पेट्रोल मोटर लगा है. ये Tivoli के करेंट 1.6-liter natural aspirated पेट्रोल मोटर को रिप्लेस करेगा. ये टर्बो पेट्रोल 110 hp व 200 Nm of torque उत्पादित करता है. अपडेट होने से इसका पॉवर काफी बढ़ जायेगा.

XUV300 के नये 1.5-liter 115 hp यूनिट के आगमन के बाद Europe-spec Tivoli के 1.6-liter 115 hp डीजल इंजन को भी हटाया जा सकता है. ये नये इंजन्स चेन्नई स्थित Mahindra Research Valley में डवलप किये गये हैं जिसमें SsangYong का भी सहयोग है. इस कार को बैंगलोर में देखा गया है. यहीं पर तो Mahindra Electric का प्लांट है. 2020 में लाँन्च होने वाली XUV300 electric यही निर्मित हुई है.

यूरोप के मार्केट के मद्देनजर SsangYong इसकी सेफ्टी रेटिंग बढ़ाने के लिये इसमें कुछ driver assistance systems भी जोड़ सकते हैं. इसका मुकाबला  Jeep Renegade, Mazda CX-3, Suzuki Vitara व Nissan Juke से रहेगा. इसकी किफायती कीमत व शानदार फीचर्स धूम मचाने को बेताब है. हालाँकि SsangYong प्रोडक्ट्स ने अब तक भारतीय बाजार का मुँह नहीं देखा है. Mahindra के आगामी प्रोडक्ट्स ही SsangYong models के रीइंजीनियर्ड वर्जन्स होते हैं.