Renault Triber AMT dual tone आकर्षण – भारत में लाँन्च Q2 2020 तक

Kwid Electric अनवेळ करने के बाद Renault India ने लगाया AMT का नंबर; 2020 Auto Expo में नजरें टिकी है इसी पर

Renault Triber AMT

अगस्त 2019 में भारत में लाँन्च हुई Renault Triber की खासी सेल्स हुई. अभी तक ये सिर्फ मेन्युअल ट्रांसमिशन ऑप्शन में ही उपलब्ध थी. इसी Auto Expo में इसका AMT ऑप्शन भी पेश हो चुका है.

वर्तमान में Renault Triber को 4 trims में पेश किया गया है जिनमें RXE वेरियेंट की कीमत Rs.4.99 lakhs व top of the line RXZ वेरियेंट की कीमत Rs.6.75 lakhs है. Renault Triber को विशेष रूप से भारतीय बाजार के लिए डिजाईन किया गया है. इसे CMF-A platform पर पोजीशन किया गया है. इसकी लेंथ 3,990mm, विड्थ 1,739mm व हाईट 1,643mm है. इसका वील्बेस 2,636mm व बूटस्पेस 84 liters से 625 liters है.

Renault Triber AMT

Renault Triber 7 seater MPV का मुख्य आकर्षण केवल अफोर्डेबल प्राइसिंग ही नहीं बल्कि इसका फ्लेक्सिबल सीटिंग अरेंजमेंट है. इसकी थर्ड रो सीट को पूरी तरह से हटा दिया गया है. Renault Triber को BS6 1.0 liter पेट्रोल इंजन से पॉवर किया गया है जो कि मेन्युअल ट्रांसमिशन से लैस है.

ये इंजन 72 PS power at 6,250 rpm व 96 Nm torque at 3,500 rpm डिलीवर करने में सक्षम है. Triber AMT को RXT व RXZ वेरियेंट्स में पेश किया गया है. इसकी फ्यूल एफिशियेंसी हूबहू मेन्युअल ट्रांसमिशन की तरह 20.5 kmpl है.

Renault Triber AMT

Renault Triber AMT में अब मिलेगी stick, Kwid AMT जैसी rotary gear knob हुई नदारद

टेस्टिंग के दौरान जब Triber को देखा गया तो इसकी डिजाईन हूबहू इसके manual counterpart जैसी लगी. इसमें आपको नई ड्यूल टोन कलर स्कीम मिलेगी. अपने स्मार्ट हेडलैम्प्स, चंकी बम्पर्स, body cladding, LED DRLs, functional roof rails व easy boot release system की बदौलत ये काफी स्मार्ट व फंक्शनल लग रही है.

BS6 इंजन से लैस होने के कारण Renault Triber AMT की कीमत Rs.40,000-50,000 तक बढ़ना तो लाजिमी ही है. वैसे खुले तौर पर Renault Triber का कोई सीधा राइवल नहीं है लेकिन compact hatchback सेगमेंट में इसका मुकाबला Maruti Suzuki Swift, Ford Freestyle, Hyundai Grand i10 Nios से रहेगा.

भारत में सेल्स अच्छी रही लेकिन रिकॉर्डतोड़ नहीं रहने से Renault India ने Triber को अफ्रीकन मार्केट में एक्सपोर्ट करना शुरू किया. एक्सपोर्ट की वजह से दिसंबर में इनकी सेल्स में 64.27% का इजाफा हुआ. कंपनी ने अब एक्सपोर्ट SAARC regions तक फैला दिया है और  Renault Kwid को काफी अच्छा रिस्पांस मिल रहा है.