K-Speed Customs का कारनामा, Royal Enfield 650 Interceptor को ‘Royal Brat’ में बदल डाला

खर्च आया Rs 1.74 L

नवंबर  2018 में लाँन्च हुई Royal Enfield 650 Twins – Continental GT 650 व Interceptor 650 को न सिर्फ भारत में बल्कि ग्लोबल मार्केट में भी इतना अच्छा रिस्पांस मिला है कि उनका वेटिंग पीरियड 5-6 महीने का चल रहा है. अब इतनी शानदार बाइक्स को भी लोग मॉडिफाई करवाने से बाज नहीं आते. अभी हाल ही में

K-Speed custom house ने Royal Enfield 650 Interceptor को मॉडिफाई करके इसे नया नाम – ‘Royal Brat’ दे दिया है. कॉस्मेटिक अपडेट्स होना तो लाजिमी ही था पर इसमें परफॉरमेंस पार्ट में भी चेंज किये गये हैं. मोडिफिकेशन के दीवाने तो इस नाम की बेहद तारीफ कर रहे हैं.

RE Interceptor 650 को ज्यादा बड़े multi spoke wheels व बेहद मोटे tyres से कस्टमाइज किया गया है. अब इनके चलते आगे व पीछे की ओर fenders को रिप्लेस करना तो लाजिमी ही था. ये custom made fenders काफी छोटे, स्पोर्टी व कॉम्पैक्ट हैं. K-Speed Customs ने ‘Royal Brat’ को सजाने में कोई कमी नहीं रखी है. एक rounded हेडलैंप यूनिट, chrome treatment वाला फ्यूल टैंक, नई handlebars व कस्टम cushioned seat की खूबसूरती देखते ही बनती है.

पिछले हिस्से में लगा आफ्टरमार्केट टेललैंप के अलावा लगाया गया custom exhaust भी अति सुंदर है. इंजन पर लगे chrome accents को आप नजरंदाज नहीं कर पायेंगे. फ्रंट में लगा सस्पेंशन सेटअप telescopic forks व बड़े gaiters से लैस है. पीछे वाले shock absorbers की साइज़ घटा दी गई है. Modified RE Interceptor 650 में इसके इंजन को यथावत रखा गया है. ये 648cc, parallel twin इंजन से पॉवर किया गया है जो 47 PS peak power at 7,250 rpm व 52 Nm torque at 5,250 rpm से पॉवर किया गया है. ये 6 स्पीड ट्रांसमिशन से लैस है.

वेटिंग पीरियड को कम करने के उद्देश्य से Interceptor 650 के चेन्नई स्थित प्लांट पर अब 2,500 यूनिट्स से बढ़ाकर प्रतिमाह 4,000-5,000 यूनिट्स करने की योजना है. Royal Enfield की योजना Thailand में 650 Twins की मेन्युफेक्चरिंग यूनिट शुरू करने की है जहाँ इन्हें CKD units के रूप में लाया जा सके और ये काम इस साल के अंत से शुरू हो जायेगा.