Royal Enfield आफ्टरमार्केट एलाय हुए क्रैक, शायद अब तो राइडर्स जाये सँभल – Video

राइडर हुआ घायल, फिर भी लोग है मोडिफिकेशन के कायल

जिस तरह ऑटो इंडस्ट्री फल-फूल रही है; वैसे ही आफ्टरमार्केट इंडस्ट्री भी दिन दुगनी रात चौगुनी तरक्की कर रही है. मेंयुफेक्चरर्स और इंडिपेंडेंट एसेसरीज मेंयुफेक्चरर्स के बीच कांटे का मुकाबला चल रहा है.

यूँ तो हर ऑटोमोबाइल कंपनी अपना सर्वश्रेष्ठ ही देती है पर कस्टमर्स को हमेशा कुछ नया और रोमांचक करने की चाह आफ्टरमार्केट एसेसरीज की ओर आकर्षित करती है. अब अगर बात जाने-माने और प्रतिष्ठित कस्टम हाउस की हो तो ठीक है पर ये जो कुकुरमुत्ते की तरह कस्टम हाउस उग आये हैं उनकी विश्वसनीयता संदेहास्पद है. उन्हें क्वालिटी से तो कोई लेना-देना होता है नहीं बस वे कुछ गोलमाल कर डालते हैं और सस्ते के चक्कर में कई लोग उन्हें काम भी दे देते हैं.

अब आँख मूंदकर विश्वास करने का खामियाजा भी तो उन्हीं को भुगतना पड़ता है. अक्सर ऐसी नौबत आ जाती है जब ओनर को बिना किसी कारण के अपने OEM certified alloys व rims क्रैक हुए मिलते है. गलत साइज़ के टायर्स, खराब सड़कें, टायर प्रेशर, टायर को चेक नहीं करना, एलाय पर उभरे हुए स्पॉट हेयरलाइन क्रेक्स को समय रहते नही देखना; जैसी समस्याएं आम हैं.

अब ऐसी गलतियाँ होगी तो हालात तो कभी भी बिगड़ सकते हैं. ऐसा ही एक वाकया Royal Enfield rider के साथ हुआ. आप नीचे विडियो में स्पष्ट देख सकते हैं कि मोडिफिकेशन का टशन कैसे जान पर बन आता है. ये राइडर स्मूथ रोड पर बेहद शांति से ड्राइव कर रहा है. अचानक बाइक से गिर गया. कुछ क्षणों बाद उसे समझ आया कि हुआ क्या है. जब उसने आगे के एलाय की हालत देखी, रिम के हालत देख उसे समझ आ गया कि गलती क्या हुई! राहगीरों ने उसे उठाया, सड़क के किनारे ले जाकर बैठाया. वो तो खुशकिस्मती से उसने हेलमेट व ग्लव्स पहने हुए थे इसलिए कोई गंभीर चोट नहीं लगी.

इस घटना का सटीक जायजा लेने के उद्देश्य से हमने आफ्टर मार्केट एसेसरीज मेंयुफेक्चरर Lluvia Industries से बात की. उन्होंने बताया कि अगर आप अपनी बाइक में किसी नौसीखिये से आफ्टर मार्केट वील लगवा रहे हैं तो ये आपका गलत निर्णय है. इंजन की तरह ही वील्स भी भी एक जरूरी अंग है जिन्हें rigorous testing से गुजरकर stringent standards पाने होते है; जिसे अंततः homologation. कहा जाता है. आफ्टर मार्केट वील्स के निर्माण के दौरान इस तरह की सेफ्टी और केयर का ध्यान नहीं रखा जाता है. और विशेषत: सस्ते या चायनीज टायर्स तो बेहद खराब होते हैं. अगर आपने टायर या ब्रेक से कोई छेड़छाड़ नहीं करवाई है तो आप हमेशा सेफ रहेंगे. अगर आपको इन्टरनेट पर यूजर रिव्यू शानदार मिले तभी इस बाबत सोचें. मॉडिफाई करवाते समय खुद से पूछ लें और शांति से सोचे कि ये आपके लिये कितने सेफ है. इसी तरह आप आफ्टर मार्केट लाइट्स से भी बचे रहे तो अच्छा है.