सितंबर 2019 की एक्सपोर्ट होने वाली Top 50 कार्स – सबसे नीचे का ताज

लिस्ट देखकर चौंक जायेंगे आप; पर यही सच है जनाब

Image for reference

भारतीय ऑटोइंडस्ट्री में मंदी की बयार बरकरार है पर एक्सपोर्ट के मामले में मार्केट बेहद गुलजार है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि सितंबर 2018 में जहाँ 57,175 यूनिट्स एक्सपोर्ट हुई थी वहीँ सितंबर 2019 में ये 7.27% बढकर 61,333 यूनिट्स हो गई है. Ecosport ने शीर्ष पर कब्ज़ा जमा रखा है. Ford Ecosport का एक्सपोर्ट जहाँ पिछले साल सितंबर में 5,860 यूनिट्स था वो अब 15.41% बढ़कर 7,763 यूनिट्स हो गई हैं.

भारत में ज्यादातर मेन्युफेक्चरर्स ने यहाँ के बजाय एक्सपोर्ट करके बाहर से ज्यादा फायदा कमाया है. इस लिस्ट में दूसरे नंबर पर Nissan Sunny है. जिनका एक्सपोर्ट 6,680 यूनिट्स के साथ 27.02% है. Nissan India का घरेलू स्तर पर जितना मासिक सेल्स है उससे कहीं ज्यादा Sunny की एक्सपोर्ट सेल्स है.

Chevrolet ने तो भारत में कार सेल्स बंद करके केवल एक्सपोर्ट पर फोकस किया हुआ है. Chevrolet Beat का एक्सपोर्ट 2.8% कम हुआ है. इस तरह 5,830 यूनिट्स से घटकर 5,667 यूनिट्स रह गया है. टॉप 10 कार प्रोडक्ट्स में Hyundai के पास 4 प्रोडक्ट्स ख़ास है. सितंबर 18 की 3,496 यूनिट्स से बढ़कर Verna का एक्सपोर्ट इस साल 5,297 यूनिट्स पहुँच गया है. इस तरह 51.52% का इजाफा प्रशंसनीय है.

Car exports India Sep 2019

Exports decline को कलर से हाईलाइट किया गया है.

Ford व Mahindra का एसोसियेशन भी अब परवान चढ़ रहा है. Figo exports में 3.24% का इजाफा हुआ है और अब 5,058 यूनिट्स 5,222 में तब्दील हो गई है.

Volkswagen Vento के एक्सपोर्ट ने तो कंपनी पिछले महीने कंपनी की रीटेल सेल्स को पीछे छोड़ दिया है. 4,384 यूनिट्स में 1.73% के मामूली इजाफे के साथ ही 4,460 यूनिट्स का आँकड़ा सामने आया है. VW India की डोमेस्टिक सेल्स 2,550 यूनिट्स है जिसमें से 455 यूनिट्स तो Vento की है.

अब दिल थामकर Hyundai India की परफॉरमेंस देखिये. Hyundai Grand i10 के एक्सपोर्ट में 35.67% की कमी आई है. 5,103 यूनिट्स से 3,283 पर आना निराशाजनक है. Hyundai Creta exports का एक्सपोर्ट 30.71 % तक बेहतर हुआ है. 2,494 से 3,260 यूनिट्स का सफर तय. Hyundai Xcent के एक्सपोर्ट में 22.81% का इजाफा!

Ford Figo Aspire का एक्सपोर्ट लिस्ट में 10वां स्थान है. 126.23% की ग्रोथ सराहनीय है. सितंबर 18 की  831 यूनिट्स अब बढ़कर 1,880 हो गई है. Ford India की डोमेस्टिक सेल्स पिछले महीने 5,556 यूनिट्स रही. Figo की 944 यूनिट्स, Aspire की 483 यूनिट्स व EcoSport की 3,139 यूनिट्स.

जहाँ Maruti घरेलू मार्केट की सरताज है वहीँ एक्सपोर्ट के मामले में फिसड्डी! कोई भी कार इस महीने टॉप 10 में नहीं है. Baleno 11वें स्थान पर है पर इसकी सेल्स में 46.76% की गिरावट आई है. Dzire का एक्सपोर्ट भी 11.45% कम हुआ है.

Hyundai Santro की पिछले महीने 1,312 यूनिट्स एक्सपोर्ट हुई थी. Maruti Ignis ने भी 339.24% की ग्रोथ के साथ काफी चौंकाया है.

भारत में निर्मित VW Polo 15वें स्थान पर है. Renault को ऊंचाई पर ले जाने में Kwid का हाथ है. वैसे अभी ये 789 यूनिट्स के साथ 18वें स्थान पर काबिज है.

Honda ने 20 वें स्थान पर कब्ज़ा जमाया है. Honda Amaze के एक्सपोर्ट में 537.89% के साथ शानदार उछाल आया है. 95 से 606 यूनिट्स का सफर शानदार है. Mahindra KUV100 टॉप एक्सपोर्ट मॉडल का ख़िताब लेते हुए 23वें स्थान पर है.

Nissan Micra का एक्सपोर्ट वॉल्यूम बुरी तरह से कम हुआ है. 65.08% की गिरावट! Kia Seltos की शुरुआत भी शानदार लग रही है.

Toyota Liva 27वें स्थान पर है. 396 यूनिट्स की सेल्स के साथ 152.23% का इजाफा हुआ है. Datsun Go की सेल्स में 11.79% की गिरावट! Jeep Compass का स्थान 29वा है. एक्सपोर्ट 111.11% बेहतर हुआ है.

Tata Nexon का एक्सपोर्ट 38वें स्थान पर है. 113.04% का इजाफा!

Car exports Sep सितंबर 2019 की कार एक्सपोर्ट रिपोर्ट से स्पष्ट है कि जहाँ कुछ कम्पनियाँ घरेलू बाजार में घाटे में हैं वो एक्सपोर्ट के मामले में टॉप पर है. इस लिस्ट में Ford India, Volkswagen India, GM India, Nissan India का नाम उल्लेखनीय है.