Tata ने जहाँ सबसे ज्यादा ग्रोथ का ताज पाया वहीँ Maruti ने सबसे ज्यादा सेल्स का गौरव पाया

2018 के टॉप टेन कार मेकर्स की समीक्षा.

नये साल के साथ ही मिलती हैं पूरी 365 नई अपोर्च्युनिटीज!! भारतीय ऑटो इंडस्ट्री पूरे जोश के साथ नये लाँन्चेज, रिफ्रेश मॉडल्स और नवीन वर्जन्स के साथ सफलता के नये प्रतिमान गढ़ने के लिए तैयार है. अब सबसे पहले Maruti Suzuki को ही लीजिये जो 2019 WagonR को जल्द ही आपके सामने पेश करेगी. ऐसे में Tata Motors क्यों पीछे रहते.वे भी new Harrier के लाँन्च की तैयारियों में लगे है और फरवरी में Mahindra XUV300 compact SUV आपके समक्ष खड़ी होगी.

‘वैल बिगिनिंग हाफ डन’ की तर्ज पर सभी मेंयुफेक्चरर्स सेल्स वॉल्यूम में वृद्धि चाहते हैं. फिर उत्कर्ष के लिए फेस्टिवल सीजन तो है ही.

चलिए फिर हम भी 2018 की डोमेस्टिक सेल्स का विश्लेषण कर ही लेते हैं. टॉप टेन लिस्ट में 6 gainers व 4 losers है. 8 कम्पनियाँ ऐसी भी है जिनकी सेल्स में इस साल गिरावट दर्ज हुई है.

हालाँकि Tata Motors ने 26.3 percent की ग्रोथ दर्ज करवाई है पर सबसे ज्यादा 17,25,050 यूनिट्स की सेल्स के साथ Maruti टॉप पर काबिज है. ग्रोथ के मामले में दूसरे स्थान पर Ford Motors ने 11.7 percent के साथ कब्ज़ा जमाया है. Toyota की ग्रोथ 8.5 percent दर्ज हुई है. मार्केट के बेताज बादशाह Maruti Suzuki की ग्रोथ 8 percent रही.

पांचवें स्थान पर नाम आता है Hyundai Motor India का जिन्होंने इस साल अपनी सर्वश्रेष्ठ सेल्स वॉल्यूम के साथ यूनिट सेल्स के मामले में भी दूसरा स्थान बरकरार रखा है, साथ ही 4.3 percent की ग्रोथ दर्ज करवाई है. 1.5 percent की ग्रोथ के साथ Mahindra की सुई छठें स्थान पर अटक गई है जबकि Marazzo MPV और Alturas G4 तो उनके नये शाहकार ही हैं.

Honda Amaze की सेल्स वॉल्यूम शानदार होने के बाद भी Honda Cars India की 2.3 percent की गिरावट चिंतनीय है. Datsun India के सेल्स वॉल्यूम में भी 12 percent की गिरावट दर्ज हुई है. कंपनी के लिए ये सोच का विषय है कि 2018 Datsun Go व Go Plus in Q4 2018 के लाँन्च के बावजूद कसर कहाँ रह गई.

नीचे से दूसरे स्थान पर काबिज होने वाली Volkswagen ने 22.9 percent की गिरावट दर्ज करवाई है. Renault India 28.3 percent की गिरावट से सकते में आ गई है. और अब ये नई Renault RBC MPV की तैयारियों में जोर-शोर से व्यस्त है.