इतनी जल्दी कदम वापस पीछे लेने वाली Lexus Gurgaon ने कारणों का खुलासा नहीं किया

Lexus की कार्स CBU रूट द्वारा लाये जाने के कारण बेहद महंगी.

अभी 2016 की ही तो बात है जब Toyota के luxury wing Lexus ने भारत के बाजार में एंट्री की थी. जबसे इसके गुरुग्राम स्थित ऑथोराइज डीलरशिप के समापन की सूचना मिली है; सभी विस्मित है.

एक आधिकारिक बयान द्वारा ये बात स्पष्ट कर दी गई है कि 23 मार्च 2019 के बाद Lexus Gurgaon केवल बचे स्टॉक के ख़त्म होने तक ही डील करेगा और आफ्टर सेल्स सर्विस भी 23 फरवरी 2019 तक ही सुलभ रहेगी. Lexus India ने अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है कि वे कस्टमर्स की सुविधाओं को किसी भी हालत में बाधित नहीं होने देंगे. Lexus Gurgaon से खरीदे गये व्हीकल्स की सर्विस फैसिलिटी दिल्ली में उपलब्ध रहेगी.

Lexus ने भारत में अपनी यात्रा 4 डीलरशिप्स के साथ शुरू की. इन्हें Guest Experience Centres (GECs)का नाम दिया गया. ये डीलरशिप्स नई दिल्ली, गुरुग्राम, मुंबई और बैंगलोर में स्थित हैं. वक्त की रफ़्तार के साथ कदम मिलाते हुए GECs की संख्या बढाई गई. चंडीगढ़, हैदराबाद, चेन्नई और कोच्ची में 24×7 guest call centre compliments स्थापित किये गये. Lexus Gurgaon डीलरशिप Oberoi में स्थित थी.

Lexus GECs पर कस्टमर्स को शानदार होस्पिटेलिटी दी जाती है. प्रत्येक कस्टमर से Lexus रिलेशनशिप मैनेजर संवाद करता है. भारत में Lexus की कार्स Completely Built Unit (CBU) द्वारा लाई जाती है. इसलिए इनकी कीमत भी काफी ज्यादा रहती है.

वर्तमान में भारत में Lexus ES 300h, RX 450h व LX 450d बिक्री के लिए उपलध है. LX हाइब्रिड नहीं है और ये एक डीजल इंजन से पॉवर की गई है. शुभारंभ के कुछ ही समय बाद इस तरह डीलरशील का बंद हो जाना दुखद है. Lexus ने अभी तक के सेल्स वॉल्यूम का खुलासा नहीं किया है.