Yamaha RX100 फिर से करेगी भारतीय सड़कों को गुलजार

आनन-फानन में नहीं; पूरी तैयारी से उतरेगी कंपनी.

Yamaha ने लगभग एक दशक तक भारतीय बाजार पर अपना वर्चस्व कायम रखा. वे अपना इतिहास दोहराने की चाह रखते है पर अब हालात बदल चुके है. ऑटोमोबाइल मार्केट एक दंगल में तब्दील हो चुका है. यहाँ जीतने के लिए नित नई रणनीतियाँ बनती है. Yamaha ने बाइक्स के mass market पर फोकस किया पर अब यहाँ कम्पीटिशन इस हद तक बढ़ चुका है कि इस फिनेंशियल इयर 18 में उन्होंने सिर्फ 15% की growth rate दर्ज की है. इस जापानी ब्रांड का मार्केट शेयर 4% तक गिर गया.

Yamaha Motor India Group के नवनियुक्त चेयरमैन – Motofumi Shitaraने पहली बार मीडिया से मुखातिब होते हुए बताया कि आने वाले समय में कंपनी premium end of the motorcycle segment (150 cc and above) के प्रति गंभीर है. आज भी Yamaha के प्रति आकर्षण बना हुआ है. इसकी जबर्दस्त परफॉरमेंस के लोग कायल थे. कंपनी इसी तरह की सफलता फिर से चाहती है.

Yamaha RX100 के रीलाँन्च की संभावनाओं को Mr Shitara ने ये कह कर हवा दे दी है कि सबकी चहेती RX100 को प्रीमियम बाइक में तब्दील करने का काम चल रहा है और ये जल्द ही भारत में फिर से अपना जलवा दिखायेगी.

कब और कैसे जैसे सवालों पर विराम लगाते हुए उन्होंने बताया कि Yamaha India engine displacements above 300 cc की बाइक्स और displacement of 125 to 150 cc के प्रीमियम स्कूटर्स के मार्केट की स्टडी कर रही है. अफ्रीका और लैटिन अमेरिका में एक्सपोर्ट करने के लिए 100-110 cc commuter motorcycles की मेन्युफेक्चरिंग का काम भी जारी है. Economic Times ने खुलासा किया है कि Yamaha India का लक्ष्य mass market commuter motorcycle segment न होकर premium products है जिससे युवावर्ग को आकर्षित किया जा सके.

वर्तमान में विश्व की सबसे ज्यादा युवा आबादी भारत में है और वे अपनी commuter motorcycle को प्रीमियम में अपग्रेड करने के खासे इच्छुक है. इसी वर्ग को ध्यान में रखते हुए Yamaha पूरी तैयारी के साथ दंगल में उतरेगा.

अपने प्रोडक्ट को बेहतरीन बनाने के लिए Yamaha India यहाँ के लोकल R&D operations को मजबूत बनाने की कोशिश में है. अभी जो भारत में technical center है वो localization पर फोकस कर रहे हैं. इसके उलट जो local subsidiary हैं, वे अपने नये प्रोडक्ट के डवलपमेंट के लिए Yamaha के जापान और Southeast Asia के overseas R&D bases पर निर्भर है.

Yamaha Motor India Group ने आने वाले 5-7 सालों में 10% तक मार्केट शेयर हासिल करने की उम्मीद लगा रखी है. इसी के साथ वे हर साल 2.5 से 3 million units के सेल्स वॉल्यूम का लक्ष्य पाने की पुरजोर कोशिश में लगे हैं.